2032 ओलिंपिक गेम्स ब्रिस्बेन में: इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी ने की घोषणा, ऑस्ट्रेलिया 3 बार समर ओलिंपिक होस्ट करने वाला तीसरा देश बनेगा

2032 ओलिंपिक गेम्स की मेजबानी मिलने के बाद ब्रिस्बेन विक्टोरिया ब्रिज पर आतिशबाजी के जरिए जश्न मनाया गया।

ऑस्ट्रेलिया के शहर ब्रिस्बेन ने 2032 ओलिंपिक गेम्स की मेजबानी हासिल कर ली है। इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (IOC) ने बुधवार यह घोषणा की। ब्रिस्बेन में मौजूद ​​​​​​​ गाबा स्टेडियम को ओलिंपिक स्टेडियम के रूप में कन्वर्ट किया जाएगा। इस स्टेडियम के पास अंडरग्राउंड रेल स्टॉप भी बनाया जाएगा।

मेलबर्न और सिडनी में भी हो चुके हैं ओलिंपिक गेम्स
ऑस्ट्रेलिया तीसरी बार समर ओलिंपिक गेम्स की मेजबानी करेगा। इससे पहले 1956 में मेलबर्न और 2000 में सिडनी में ओलिंपिक गेम्स हो चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया 3 या ज्यादा समर ओलिंपिक गेम्स आयोजित करने वाला तीसरा देश बन जाएगा। अमेरिका ने अब तक 4 और ब्रिटेन ने 3 समर ओलिंपिक का आय़ोजन किया है। फ्रांस, जर्मनी और ग्रीस में दो-दो बार समर ओलिंपिक हुए हैं। 2024 में फ्रांस भी तीन बार समर ओलिंपिक आयोजित करने वाला देश बन जाएगा।

बनाए जाएंगे दो खेल गांव
2032 ओलिंपिक गेम्स के लिए दो खेल गांव बनाए जाएंगे। एक खेल गांव ब्रिस्बेन में और दूसरा गोल्ड कोस्ट में बनेगा। इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी ने टोक्यो में बैठक के बाद ब्रिस्बेन को 2032 गेम्स की मेजबानी सौंपने का फैसला किया। इस मौके पर क्वींसलैंड का पूरा डेलिगेशन मौजूद था। ब्रिस्बने ऑस्ट्रेलियाई राज्य क्वींसलैंड की राजधानी है।

ब्रिस्बेन और ऑस्ट्रेलिया में जश्न
2032 गेम्स की मेजबानी मिलने के बाद ब्रिस्बेन और ऑस्ट्रेलिया में जश्न का दौर शुरू हो गया है। यह खबर सार्वजनिक होने के बाद ब्रिस्बेन में आतिशबाजी भी की गई। विक्टोरिया ब्रिज पर ग्रीन और यलो कलर की लाइटिंग भी की गई।

भारत ने भी की थी दावेदारी
2032 ओलिंपिक गेम्स की मेजबानी के लिए भारत सहित कुछ अन्य देशों ने भी रुचि दिखाई थई। इनमें इंडोनेशिया, कतर, स्पेन और जर्मनी भी शामिल थे। हालांकि, इनकी दावेदारी IOC में बोर्ड स्टेज से आगे नहीं बढ़ पाई और आखिरकार ब्रिस्बेन को मेजबानी मिल गई। भारत 2036 ओलिंपिक गेम्स के लिए मजबूत दावा पेश कर सकता है। माना जा रहा है कि अहमदाबाद को होस्ट सिटी के तौर पर पेश किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं. कुंद्रा का न्यू टेक्नोलॉजी वाला प्लान ‘B’: अपने पोर्न बिजनेस को बढ़ावा देने ‘बोलिफेम’ ऐप किया था तैयार, इस पर लाइव वीडियो दिखाए जाते; इन 3 वजह से की थी इसकी प्लानिंग

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: